अखिलेश के इस ट्वीट पर गर्वनर का आब्जेक्शन चुनाव के वक्त ऐसी बातें ठीक नहीं

2019-03-28T11:17:38+05:30

राज्यपाल राम नाईक ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा किए गये एक ट्वीट को गैर जिम्मेदाराना करार दिया है। राज्यपाल ने इसके लिए पत्र भी लिखा है।

- कहा, संवैधानिक पद पर बैठे व्यक्ति पर आरोप लगाना उचित नहीं
- कोई राजनैतिक बयान नहीं दिया, चुनाव के वक्त ऐसी बातें अनुचित
lucknow@inext.co.in
LUCKNOW: राज्यपाल राम नाईक ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा किए गये एक ट्वीट को गैर जिम्मेदाराना करार देते हुए पत्र लिखा कि राजनीति में राज्यपाल को लाना संवैधानिक पदों का अनादर है। मैं किसी राजनीतिक बयान का संज्ञान नहीं लेता हूं, जैसा कि आप जानते हैं कि मैंने कभी कोई बयान नहीं जारी किया। साथ ही एक समाचार पत्र का उल्लेख भी किया जिसमें अखिलेश ने उनको लेकर बयान दिया कि भाजपा का प्रचार राज्यपाल और सरकारी एजेंसियां कर रही हैं। आज भी राज्यपाल लखनऊ में हुई किसी घटना को देखने गये थे। उन्होंने इस बयान को भी अनुचित ठहराया है।
अखिलेश ने ये किया था ट्वीट
बताते चलें  कि अखिलेश यादव ने मंगलवार सुबह एक ट्वीट किया था जिसमें उन्होंने लिखा था कि
भाजपा के चुनावी मुद्दे
1. विपक्ष 2.विपक्ष 3. चौकीदार
भाजपा के प्रचारक
1. राज्यपाल 2. सरकारी एजेंसियां 3. मीडिया
भाजपा की चुनावी रणनीति
1. सोशल मीडिया 2. नफरत 3. पैसा
भाजपा के पांच साल की उपलब्धि
1. भीड़तंत्र 2. किसानों का अपमान 3. बेरोजगारी
नहीं गये सार्वजनिक कार्यक्रमों में
राज्यपाल ने अपने पत्र में लिखा कि वे मैनपुरी में हुई बस दुर्घटना में डॉक्टर ज्योति और उनकी छह वर्षीय पुत्री की मौत के बाद परिवार को सांत्वना देने उनके राजाजीपुरम स्थित आवास पर गये थे। डॉक्टर ज्योति राजभवन में तैनात डॉक्टर अनिल निर्वाण के भाई की पत्नी थी और एसजीपीजीआई में डाक्टर थीं। ऐसे मौके पर अपने स्टाफ के दुख दर्द में पहुंचना मैं अपना दायित्व मानता हूं। वह तो दुर्घटना की बात है, मैं तो खुशी के अवसर पर नेताजी सहित आप जैसे महानुभावों के जन्मदिन की बधाई देता हूं और आवास पर भी जाता हूं। मैैं आपके संज्ञान में लाना चाहता हूं कि चुनाव आयोग द्वारा चुनाव की आदर्श आचार संहिता की घोषणा के बाद मैं किसी राजनैतिक कार्यक्रम में नहीं गया तथा मैंने राजनैतिक व्यक्तव्य भी नहीं दिया। मैं समझता हूं कि आप एक जिम्मेदार नागरिक हैं, मुख्यमंत्री भी रह चुके हैं तथा सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष भी हैं। चुनाव के समय ऐसी बातें कदाचित उपयुक्त नहीं है। आपसे इस तरह के आक्षेप की अपेक्षा नहीं की जाती।

लोकसभा चुनाव 2019 : अखिलेश यादव आजमगढ़ से तो आजम खान रामपुर से लड़ेंगे सांसदी का चुनाव

लोकसभा चुनाव 2019 : राजा भैया की नई पार्टी JDL यूपी की इन 13 सीटों पर लड़ेगी चुनाव


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.