दंगे को लेकर संसद में हंगामा राहुल का मोदी और स्‍पीकर पर निशाना

2014-08-06T03:55:00+05:30

सांप्रदायिक हिंसा पर चर्चा को लेकर संसद में बुधवार को जमकर हंगामा हुआ हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही पहले 12 बजे तक और फिर 2 बजे तक स्‍थगित कर दी गई

राहुल गांधी ने दिखाये तेवर
देश में बढ़ते सांप्रदायिक दंगो पर चर्चा की मांग को लेकर कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने काफी तेवर दिखाये. राहुल इतने एक्‍साइटेड हो गये कि वे लोकसभा के वेल में घुस गये, उनके साथ अन्‍य सांसद भी थे. उन्‍होंने लोकसभा स्‍पीकर सुमित्रा महाजन पर पक्षपात का आरोप लगाया और पीएम नरेंद्र मोदी पर भी सीधा हमला बोला. संसद में आज लोकसभा की कार्यवाही शुरू होते ही कांग्रेस के नेतृत्‍व में विपक्षी पार्टियों के सांसदों ने यूपी के सांप्रदायिक दंगे पर चर्चा कराये जाने और सांप्रदायिक हिंसा के अगेंस्‍ट विधेयक सदन में लाने की मांग की. लेकिन स्‍पीकर ने उनकी मांग को खारिज कर दिया, जिसके बाद कांग्रेस सांसदों ने लोकसभा में खूब हंगामा किया.
आडवाणी हुये नाराज, राहुल को समझाया
सूत्रों के मुताबिक, बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता लाल कृष्‍ण आडवाणी लोकसभा में कांग्रेसी सांसदों के व्‍यवहार से दुखी हैं. वे चाहते हैं कि लोकसभा में एनडीए के उपस्थित मैनेजर मामले को जल्‍दी सुलझाये. सूत्रों का यह भी कहना है कि सदन स्‍थगित होने के बाद राहुल गांधी और कमलनाथ वहां लाल कृष्‍ण आडवाणी से मिले. आडवाणी ने राहुल गांधी से कहा कि,'सदन ऐसे नहीं चलती है, अपने सांसदों को समझायो.' इसके जवाब में राहुल ने कहा कि,'हम सांप्रदायिक मुद्दे पर बात करना चाहते हैं, लेकिन हमें बोलने नहीं दिया जाता है'
मोदी पर किया सीधा हमला
इससे पहले संसद में हंगामे के दौरान राहुल के नेतृत्‍व में कांग्रेस सांसद लोकसभा अध्‍यक्ष के आसन के पास चले गये. इसके बाद सुमित्रा महाजन ने सदन की कार्यवाही दोपहर 12 बजे तक के लिये स्‍थगित कर दी. इस बीच कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने इस मामले में स्‍पीकर पर पक्षपात का आरोप लगाया. उन्‍होंने कहा कि, हमें बोलने नहीं दिया जा रहा है. राहुल ने पहली बार पीएम नरेंद्र मोदी पर सीधा हमला करते हुये कहा,'देश में सिर्फ एक व्‍यक्ति की ही बात सुनी जा रही है, और किसी को बोलने का अधिकार नहीं है.'

Hindi News from India News Desk

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.