शांति समिति की बैठक बनी अखाड़ा

2014-07-04T07:01:10+05:30

-डीएम, एसएसपी के हस्तक्षेप के बाद भी शांत नहीं हुए लोग

-बिजली, अतिक्रमण और छेड़छाड़ रहे मुख्य मुद्दा

Mawana : थाने में आयोजित शांति समिति की बैठक गुरुवार शाम उस समय जंग का अखाड़ा बन गई, जब डीएम ने बैठक को संबोधित कर लोगों को धन्यवाद ज्ञापित किया। इसके बाद वहां मौजूद लोग डीएम, एसएसपी की ओर से लपक पडे़ और समस्याओं के अंबार लगा दिए। आखिर डीएम और एसएसपी के कहने के बाद लोग शांत नही हुए,, तो डीएम को कहना ही पड़ा कि शांति स्थापित करने वाले ही अशांति फैला रहे है तो कैसे काम चलेगा?

जोश में न खोएं होश

कांवड़ यात्रा और ईद-उल-फीतर को लेकर गुरुवार को थाने में शांति समिति की बैठक डीएम पंकज यादव और एसएसपी ओकार सिंह की अध्यक्षता में शुरु हुई। एसएसपी और डीएम ने क्षेत्र में हिंदू और मुस्लिमों से त्यौहारों पर समझदारी से शांति बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि युवा जोश में होश न खोए, वरना भविष्य खराब हो सकता है। कही भी कोई बात हो तो आपस में ही निपटा ली जाए, समझौता न होने पर पुलिस को सूचना दे, ताकि समय रहते ही मामले का निपटारा करा दिया जाए। उन्होंने रमजान माह में बिजली पानी की आपूर्ति सुचारु रहने के लिए भी कहा। लोगों ने बिजली की समस्या रखी तो ऊर्जा निगम के एसडीओ को डीएम ने तलब कर लिया। कूड़ी की झाल पर रखे ट्रांसफार्मर की बावत डीएम ने उन्हें कहा कि मुझे कुछ नही सुनना, सुबह तक वहां ट्रांसफार्मर लग जाना चाहिए। जैसे ही डीएम का संबोधन खत्म हुआ लोग उनकी ओर समस्या लेकर दौड़ पडे़ और आपस में ही भिड़ गये। देखते ही देखते शांति समिति की बैठक डीएम और एसएसपी के सामने जंग के अखाडे़ में तब्दील हो गई।

नहीं सुनी अपील

डीएम और एसएसपी ने कई बार लोगों से शांत रह कर बात रखने की अपील की, मगर लोगों ने अनसुनी कर दी और एक साथ झुंड में शिकायत रखने लगे। इस पर एसपी देहात कैप्टन एमएम बेग, सीओ बले सिंह, एसओ प्रदीप त्रिपाठी ने लोगों को हटाया और बैठने की हिदायत दी, मगर शांति समिति के लोगों ने ही वहां अशांति फैलाने में कोई कोर कसर नही छोड़ी। इस मौके पर नगर पालिका चेयरपर्सन डा। नीरा चंद्रा, शहर काजी मौलाना नफीस, जय प्रकाश जैन, के अलावा दोनों सम्प्रदाय के लोग मौजूद रहे।

स्पष्टीकरण नहीं, काम चाहिए

डीएम पंकज यादव का गुस्सा उस समय सातवें आसमान पर पहुंच गया, जब लोगों ने बिजली समस्या को उठाते हुए कहा कि एसडीओ और जेई फोन नही उठाते। उन्होंने कहा कि न तो आप बिजली दे रहे है और उपर से फोन भी नही उठाते ये तो बहुत पीड़ादायक बात है। कूड़ी कमालपुर से चोरी हुए ट्रांसफार्मर के बदले नया लगवाने पर उन्होंने एसडीओ से कहा कि स्पष्टीकरण नही काम चाहिए।

बिजली समस्या को लेकर सपाई और बसपाई आमने सामने

बिजली पर हंगामा

बैठक में जब सपा नेता इलियास टेंडा ने बिजली समस्या उठाई तो बसपा के पूर्व सभासद अय्यूब कालिया और सभासद अमीर आजम ने कहा कि बिजली आपूर्ति बहुत अच्छी है। बिजली से उन्हें कोई शिकायत नहीं है। इतना सुनते ही वहां हो हल्ला शुरु हो गया और देखते ही देखते डीएम के सामने अराजकता का माहौल हो गया।

inextlive from Meerut News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.