यमन बस पर हवाई हमले में बच्चे सहित 43 लोगों की मौत अमेरिका ने किया जांच का आग्रह

2018-08-10T12:17:42+05:30

यमन में बस पर हवाई हमले में बच्चे सहित 43 लोगों की मौत हो गई है। अमेरिका ने सरकार पर सऊदी अरब का समर्थन करने का आरोप लगाते हुए जांच का आग्रह किया है।

वाशिंगटन (आईएएनएस)। यमन में गुरुवार को बस पर हुए हवाई हमले में 43 लोगों की मौत हो गई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मरने वालों में ज्यादातर कम उम्र के बच्चे थे। अमेरिका समेत कई देशों ने इस हमले की कड़ी निंदा की है। अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता हीदर नऊर्ट ने कहा कि हालांकि वाशिंगटन के पास बस पर हुए हमलों को लेकर पूरी जानकारी नहीं है लेकिन नागरिकों की मौत को लेकर हम चिंतित हैं। दरअसल, विद्रोहियों ने इस हमले का जिम्मेदार सरकार को ठहराया है। उनका कहना है कि सरकार ने ही सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन के साथ मिलकर बस पर यह हमले करवाएं हैं।
सरकार ने कराया हमला
नऊर्ट ने कहा, 'हम इस घटना की पूरी तरह से पारदर्शी जांच करने के लिए आग्रह करते हैं। हम इस हमले में मारे गए नागरिकों की बात को बहुत गंभीरता से ले रहे हैं। हम अंतरराष्ट्रीय कानून के अनुसार, सभी पार्टियों से नागरिकों की रक्षा के लिए उचित कदम उठाने और हमले को लेकर निष्पक्ष जांच कराने का आग्रह करते हैं।' बता दें कि बस पर ये हवाई हमला सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन की ओर से की गई थी और यह गठबंधन यमन में रह रहे हूथी विद्रोहियों के ख़िलाफ लड़ने वाले यमन सरकार का समर्थन करता है।
पिछले हफ्ते भी यमन में हमला
यमन सरकार का इस मामले में कहना है कि विद्रोहियों को लेकर ऐसी कार्रवाई ठीक है। यमन सरकार के प्रवक्ता कर्नल तुर्की अल-मल्की ने एक बयान में कहा है कि यह हवाई हमला अंतरराष्ट्रीय कानून के तहत किया गया है। इसके साथ उन्होंने यह भी कहा कि यह हवाई हमला हूथी विद्रोहियों के बैलिस्टिक मिसाइल के जवाबी कार्रवाई के रूप में किया गया था। बता दें कि यमन में पिछले हफ्ते भी सऊदी अरब के नेतृत्व वाले गठबंधन ने एक अस्पतालों और मार्केट पर हवाई हमला किया था। इस हमले में 52 नागरिकों कि जान चली गई थी जबकि 100 से अधिक घायल हुए थे।

थाईलैंड : गुफा से बचाए गए सभी बच्चों को मिली अस्पताल से छुट्टी

थाईलैंड : गुफा से बचाए गए बच्चों को मिलेगी अस्पताल से गुरुवार को छुट्टी

 

 

 


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.