खाई में गिरी यूटीलिटी छह की मौत ग्यारह घायल

2014-11-17T07:02:05+05:30

-काहा से विकासनगर जा रही यूटीलिटी गांव के पास खाई में गिरी

-घायलों को एंबुलेंस 108 से पहुंचाया सीएचसी विकासनगर

-मृतकों में चालक व दो महिला समेत छह लोग शामिल

DEHRADUN : सवारियों से भरी यूटीलिटी काहा से विकासनगर आते समय अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी। दुर्घटना में चालक व दो महिला समेत छह लोगों की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि ग्यारह लोग घायल हो गए। पुलिस ने स्थानीय लोगों के साथ मिलकर तीन घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन कर घायलों को खाई से सड़क तक पहुंचाया, जहां से सभी को क्08 आपातकालीन सेवा के माध्यम से सीएचसी विकासनगर व लेहमन हॉस्पिटल में एडमिट किया गया, जहां से डॉक्टर्स ने आठ की स्थिति को गंभीर बताते हुए दून हॉस्पिटल रेफर कर दिया।

ठसा-ठस भरी थी यूटीलिटी

दरअसल, रविवार सुबह काहा गांव में खड़ी यूटीलिटी में विकासनगर आने के लिए सवारियों बैठने लगी। करीब साढ़े आठ बजे तक एक बच्ची व छह महिलाओं समेत क्म् लोग सवार हो गए और सत्रहवां चालक था। विकासनगर आने के लिए चालक ने जैसे सवारियों से भरी यूटीलिटी को सड़क पर मोड़ना शुरू किया। इसी दौरान यूटीलिटी अनियंत्रित होकर गहरी खाई में जा गिरी, जिसके बाद सवारियों में चीख पुकार मच गई। दुर्घटना में चालक देवी सिंह (ब्ख्) पुत्र अंतराम निवासी बिजऊ, आसोजी देवी (म्भ्) वाइफ ऑफ विजराम निवासी भोणा, किशन सिंह (70) पुत्र नैन सिंह निवासी क्यूठा, पूरण सिंह (ब्भ्) पुत्र गुलाब सिंह निवासी पुनाह, मुन्ना सिंह (म्भ्) पुत्र मोहर सिंह निवासी काहा व शीला देवी वाइफ ऑफ सरदार सिंह निवासी काहा की मौके पर ही मौत हो गई, जबकि ग्यारह लोग घायल हो गए।

तीन घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन

घायलों को तीन घंटे रेस्क्यू कर क्08 आपातकालीन सेवा के माध्यम से विकासनगर स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र व लेहमन अस्पताल में भर्ती किया गया, जहां से आठ को गंभीर बताते हुए डॉक्टर्स ने दून अस्पताल रेफर कर दिया। दून से भी दो को गंभीर बताते हुए हायर सेंटर भेजा गया है। गृह मंत्री व स्थानीय विधायक प्रीतम सिंह के कहने पर मृतकों का मौके पर ही पोस्टमार्टम कर परिजनों को सौंप दिया गया।

-------

ये हुए घायल

उज्जला देवी, जेठूदास, सुल्तान सिंह, बलबीर, गुड्डी, विजय सिंह, कुंवर सिंह, चमोदेवी, भगत सिंह, रिखा सिंह, मदन सिंह शामिल हैं। सभी लोग तहसील एरिया कालसी के रहने वाले हैं। घायलों में रिखाराम, सुल्तान सिंह, जेठूदास, बलबीर, कुंवर सिंह को दून अस्पताल रेफर किया गया।

----------------

ओवर लोड थी यूटीलिटी

चालक समेत यूटीलिटी सात सवारियों पर पास होती है, बावजूद यूटीलिटी में चालक समेत क्7 लोग सवार थे। साफ है कि वाहन ओवरलोड था। इसके अलावा यूटीलिटी में तीन बोरियां अदरक और अरबी भी रखी गई थी। घायल रिखा सिंह ने बताया कि ड्राइवर काफी पुराना है, लेकिन वाहन ओवरलोड था। यदि सवारियों को उतारकर चालक गाड़ी मोड़ता तो संभवत: यह हादसा न होता, लेकिन होनी को कौन टाल सकता है, मामले में आरटीओ की तरफ से अभी तक दुर्घटना के कारण स्पष्ट नहीं किए गए हैं। कारणों का पता लगाने के लिए एक टीम मौके पर भेजी गई है।

--------

दून हॉस्पिटल में नहीं हुआ इलाज

दुर्घटना में घायल सुल्तान सिंह का उपचार दून हॉस्पिटल में चल रहा है, उनके बेटे सुरेन्द्र सिंह ने उपचार में लापरवाही बरतने का आरोप लगाते हुए बताया कि डॉक्टर्स के पास घायलों की पट्टी सहित अन्य स्वास्थ्य उपचार करवाने की बात कही जा रही है तो वे मना कर रहे हैं। बताया जा रहा है कि संडे के कारण स्टाफ ही नहीं है। जिस कारण लोगों को खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है।

-------------

मुआवजे की मांग

दुर्घटना पर गृह मंत्री व स्थानीय विधायक प्रीतम सिंह ने दुख व्यक्त करते हुए मृतकों के परिजनों को मुख्यमंत्री राहत कोष से अमुन्य राशि दिलाए जाने की बात कही है। वहीं क्षेत्र से बीजेपी के कद्दावर नेता मुन्ना सिंह चौहान ने भी घटना पर दुख व्यक्त करते हुए सरकार से घायलों को पांच-पांच लाख रुपए दिए जाने की मांग की है।

------------

मौके पर ही पोस्टमार्टम

जिलाधिकारी चंद्रेश कुमार व सीएमओ डॉ। एसपी अग्रवाल के निर्देश पर अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ। चक्रपाणी के नेतृत्व में गठित चिकित्सकों की टीम ने सड़क हादसे में मारे गए सभी छह लोगों का मौके पर ही पोस्टमार्टम किया। सीएमओ ने कहा हादसे में घायल चार लोगों को सीएचसी विकासनगर, दो का लेहमन अस्पताल हरबर्टपुर व पांच लोगों का दून अस्पताल में उपचार चल रहा है। फिलहाल घायलों की हालत खतरे से बाहर है।

inextlive from Dehradun News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.