सिटी में सुस्त पड़ा मीजल्स रूबेला कैंपेन

2019-01-22T06:00:40+05:30

RANCHI:मीजल्स-रूबेला वैक्सीन कैम्पेन राजधानी में ही सुस्त पड़ गई है तो अन्य जिलों की स्थिति का अंदाजा लगाया जा सकता है। रांची डीसी राय महिमापत रे ने इस मामले में गड़बड़ी पाते हुए सिविल सर्जन और नगर निगम को संयुक्त रूप से अभियान चलाते हुए कैम्पेन को सफल करने के निर्देश जारी किए हैं। एमआर वैक्सीन टीका है, जो नौ माह से 15 वर्ष के बच्चों को इंजेक्शन के जरिए दिया जाना है। शहरी क्षेत्र के स्वास्थ्य कर्मी एवं रांची नगर निगम स्वास्थ्य विभाग के बीच समन्वय की आवश्यकता हेतु शहरी क्षेत्रों में सिविल सर्जन को रांची डीसी द्वारा कार्य योजना के अनुसार कैंपेन का काम करने का निर्देश दिया गया है।

वार्ड में चलेगा वैक्सीनेशन ड्राइव

डीसी ने सभी वार्ड कार्यालयों में वैक्सीनेशन ड्राइव चलाने और रांची नगर निगम के वार्ड काउन्सेलर, सुपरवाइजर एवं अन्य कर्मियों का सहयोग प्राप्त करने का निर्देश सिविल सर्जन को दिया है। सिविल सर्जन द्वारा सभी वार्ड कार्यालयों में एक-एक एएनएम को प्रतिनियुक्त करने का निर्देश दिया गया है, जो सुबह 8.00 बजे से नगर निगम के सुपरवाईजर के साथ क्षेत्र भ्रमण करेगें तथा मोबिलाईजेशन का कार्य करेंगे। सुबह 10 से शाम 4 बजे तक मीजल्स-रूबेला टीकाकरण कैंप लगाना सुनिश्चित करेंगे।

कूड़ा गाडि़यों से दीजिए संदेश

रांची नगर निगम के कचरा उठाव ध्वनि विस्तारक यंत्रों से मीजल्स-रूबेला कैंपेन की जानकारी दी जाएगी। इस संबंध में सिविल सर्जन को ऑडियो क्लीप अपर नगर आयुक्त के साथ शेयर करने का निर्देश दिया गया है। सिविल सर्जन को इस मोबिलाईजेशन में सिविल सोसायटी ऑर्गनाइजेशन, रांची नगर निगम द्वारा वार्ड में गठित स्वच्छता समिति, संबंधित आंगनबाड़ी तथा महिला आरोग्य समिति की सहभागिता करने का निर्देश है।

स्कूली बच्चों को देंगे जानकारी

सिटी के स्कूली बच्चों को जागरूक करने का लक्ष्य रखा गया है। स्वास्थ्य विभाग के जिलास्तरीय टास्क फोर्स और स्वास्थ्य तथा समाज कल्याण विभाग के अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश भी जारी कर दिया गया है। डीसी ने कहा है कि स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी शिक्षा विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर बच्चों का डाटा तैयार करें और वैक्सीन के संबंध में बच्चों, उनके परिवार और ग्रामीणों को इसका महत्व बताएं। डीसी ने सभी सीडीपीओ, बीईईओ आदि को वैक्सीन के लिए स्कूलों और आंगनबाड़ी केन्द्रों में जागरूकता अभियान चलाने को कहा है।

वर्जन

राजधानी में एमआर कैम्पेन की रफ्तार थोड़ी सुस्त है। इसलिए स्वास्थ्य विभाग और नगर निगम को को-आर्डिनेशन बनाकर काम करने के लिए कहा है। शहर में लोगों को और खासकर बच्चों को भी इस कैम्पेन से जोड़ने की जरूरत है ताकि मीजल्स-रूबेला के खतरनाक वायरस को रोका जा सके।

राय महिमापत रे, डीसी, रांची

inextlive from Ranchi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.