देशदुनिया के टूरिस्ट पर व‌र्ल्ड हेरिटेज वैली ऑफ फ्लावर जादू

2019-05-23T06:00:33+05:30

-साल-दर-साल यहां पहुंचने वाले टूरिस्ट में हो रहा इजाफा

-वर्ष 2018-19 में 15433 विजिटर्स पहुंचे फूलों की घाटी

-18 वर्षो में नेशनल पार्क ने की 1.44 करोड़ से अधिक की कमाई

देहरादून, व‌र्ल्ड हेरिटेज में शामिल व‌र्ल्ड फेमस वैली ऑफ फ्लावर में लगातार टूरिस्ट की आमद बढ़त रही है। बीते फाइनेंशियल ईयर में वैली ऑफ फ्लावर में पहुंचने वाले टूरिस्ट की संख्या 15,433 थी, इनमें 664 फॉरेनर्स शामिल हैं। इन टूरिस्ट की आमद से इस नेशनल पार्क को 24,12,075 रुपए की कमाई हुई। 2013 की आपदा के बाद फूलों की घाटी पर भी खासा असर देखने को मिला था। वर्ष 2013-14 में केवल 484 और वर्ष 2014-15 में 181 टूरिस्ट ही यहां टूरिस्ट पहुंचे।

दो साल बाद फिर बढ़े टूरिस्ट

हल्द्वानी तिकोनिया निवासी आरटीआई एक्टिविस्ट हेमंत गोनिया को नंदा देवी नेशनल पार्क के लोक सूचना अधिकारी कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार नेशनल पार्क कुल 8750 हेक्टेयर क्षेत्र में फैला है। वैली ऑफ फ्लावर पहले इसी पार्क का एक हिस्सा है, अब वैली आफ फ्लावर अलग नेशनल पार्क है। पिछले 18 सालों में वैली ऑफ फ्लावर के लिए जून 2013 की आपदा के बाद तीसरा वर्ष सबसे ज्यादा घाटे का साबित हुआ। वर्ष 2015 में यहां पहुंचने वाले टूरिस्ट की संख्या केवल 181 रही। इनमें केवल 5 फॉरेनर्स विजिटर्स यहां विजिट के लिए पहुंचे।

कब कितने टूरिस्ट

वर्ष-----इंडियन----फॉरेनर्स----कुल

2001-02---1959--134--2667

2002-03---2277--31--3021

2003-04---3445--297--4493

2004-05---4388--437--4937

2005-06---4545--563--5222

2006-07---5949--669--6752

2007-08---6204--740--6999

2008-09---6012--772--5684

2009-10---7711--732--8577

2010-11---4483--478--5118

2011-12---6092--527--6855

2012-13---7053--486--8799

2013-14---448--37--484

2014-15---134--5--181

2015-16---6068--435--6503

2016-17---8962--649--9611

2017-18---13185--569--13754

2018-19---14769--664--15433

वर्षवार इनकम

वर्ष-----इनकम

2001-02---105720

2002-03---79160

2003-04---251920

2004-05---317150

2005-06---362355

2006-07---461140

2007-08---601800

2008-09---567600

2009-10---678675

2010-11---944316

2011-12---1138604

2012-13---1291723

2013-14---87875

2014-15---29400

2015-16---1154775

2016-17---1729575

2017-18---2225025

2018-19---2412075

मेंटेनेंस के लिए बजट

वर्ष--बजट---खर्च

2001-02--00

2002-03--00

2003-04--00

2004-05--00

2005-06--00

2006-07--26.66

2007-08--20.20

2008-09--38.42

2000-10--20.14

2010-11--33.20

2011-12--101.51

2012-13--45.98

2013-14--88.64

2014-15--84.71

2015-16--228.90

2016-17--32.20

2017-18--47.49

2018-19--224.94

फॉरेनर्स का टिकट 600 रुपए

वैली ऑफ फ्लावर और नंदादेवी नेशनल पार्क घूमने के लिए इंडियन विजिटर्स से तीन दिनों के लिए 150 रुपये लिये जाते हैं, जबकि फॉरेनर्स के लिए तीन दिन का टिकट 600 रुपए है। फूलों की घाटी फिलहाल एक ही गेस्ट हाउस है, जो वीवीआईपी के लिए बुक रहता है। बाकी यहां आने वाले टूरिस्ट को 7 किमी पहले घांघरिया में होटेल्स आसानी से मिल जाते हैं।

1982 में व‌र्ल्ड हेरिटेज हुआ घोषित

वैली ऑफ फ्लावर उत्तराखंड के चमोली में स्थित है। यूनेस्को ने 1982 में इसे व‌र्ल्ड हेरिटेज घोषित किया। पहले यह नंदा देवी नेशनल पार्क में शामिल था, लेकिन अब वैली ऑफ फ्लावर खुद नेशनल पार्क घोषित हो चुका है।

inextlive from Dehradun News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.