वंदे भारत एक्सप्रेस आज से शुरू होगा ट्रेन 18 के लिए रिजर्वेशन

2019-02-14T11:20:06+05:30

- सेमी हाई स्पीड ट्रेन को सिस्टम पर लाने के लिए देर रात तक हुई ऑफलाइन टेस्टिंग

- 14 को पीआरएस पर, 15 को पीएम दिखाएंगे हरी झंडी

varanasi@inext.co.in

VARANASI : देश की पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस में सफर करने का सपना अब पूरा होने वाला है। 14 फरवरी से इसमें जगह पाने के लिए रिजर्वेशन स्टार्ट हो जाएगा। यह ट्रेन सुबह से पीआरएस के कंप्यूटर पर दिख सकती है। बताया जाता है कि एक दिन पहले यानी 13 फरवरी की देर रात तक ट्रेन के ऑफलाइन रिजर्वेशन की टेस्टिंग होती रही। बहुप्रतीक्षित ट्रेन का 15 फरवरी से रेग्यूलर संचालन होने लगेगा। पीएम नरेंद्र मोदी बनारस- नई दिल्ली के बीच संचालित होने वाली इस ट्रेन को नई दिल्ली स्टेशन पर सुबह 10 बजे हरी झंडी दिखाएंगे। इस दिन इसमें विशिष्टजन ही सफर करेंगे। खास बात यह कि ट्रेन में सवार रेल मंत्री पीयूष गोयल कानपुर, प्रयागराज व कैंट स्टेशन बनारस में सभा भी करेंगे.

 

ट्रेन नंबर टी- 18 से रिहर्सल

आनन- फानन में वंदे भारत एक्सप्रेस को पीएम नरेंद्र मोदी के हाथों हरी झंडी दिखाने की घोषणा कर दी गयी। लेकिन ट्रेन का नंबर जारी नहीं किया गया। इससे ट्रेन में रिजर्वेशन स्टार्ट नहीं हो पाया। ऐसे में क्रिस ने टी- 18 नाम से उसका ऑफलाइन टेस्टिंग किया। यह सिलसिला ट्रेन नंबर के पीआरएस में आने तक जारी रहा। हालांकि 13 फरवरी को रेलगाड़ी का नंबर जारी कर दिया गया। ऑफिसर्स के मुताबिक बनारस से ट्रेन का नंबर 22435 और नई दिल्ली से रवाना होने वाली ट्रेन का नंबर 22436 होगा.

 

पांच दिन चलेगी ट्रेन

बनारस से हाई स्पीड ट्रेन सप्ताह में पांच दिन रविवार, मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार और शनिवार को चलेगी। दिन का सेलेक्शन इस तरह से किया गया है कि लोग अपने समय का सही सदुपयोग कर सकें.

 

रेल राज्यमंत्री करेंगे स्वागत

15 फरवरी को वाराणसी कैंट स्टेशन आने वाली स्पेशल ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस का रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा व रेलवे बोर्ड के चेयरमैन सहित अन्य ऑफिसर्स वेलकम करेंगे। इसमें रेल मंत्री पीयूष गोयल सहित अन्य जनप्रतिनिधि व गणमान्य लोग सवार रहेंगे। ट्रेन के यहां पहुंचने पर रेल मंत्री सर्कुलेटिंग एरिया में आयोजित सभा को संबोधित करेंगे.

 

पैसेंजर्स को मिलेगा फूड

 

वंदे भारत एक्सप्रेस के पैसेंजर्स को आईआरसीटीसी की ओर से फूड आयटम सर्व किये जाएंगे। इसमें एग्जीक्यूटिव क्लास के पैसेंजर्स को फ्रूट जूस के अलावा दूध के साथ कार्नफ्लेक्स परोसा जाएगा। वहीं चेयरकार के पैसेंजर्स को ग्रीन टी मिलेगी.

 

शताब्दी से अधिक किराया

 

रेलवे ने नई दिल्ली- वाराणसी सफर के लिए एसी चेयर कार का किराया 1760 रूपये, जबकि एग्जीक्यूटिव क्लास का किराया 3310 रूपये होगा। वापसी में एसी चेयरकार का किराया 1700 रूपये और एग्जीक्यूटिव क्लास का किराया 3,260 रूपये होगा। दोनों किराये में कैटरिंग का शुल्क भी शामिल है। जहां चेयरकार का किराया उतनी दूरी तय करने वाली शताब्दी ट्रेन के किराये से 1.4 गुणा अधिक है और एग्जीक्यूटिव क्लास का किराया प्रीमियम ट्रेन में एसी फ‌र्स्ट के किराये से 1.3 गुणा अधिक है.

 

इस तरह होगा टाइम टेबल

 

- ट्रेन नंबर 22435 वाराणसी- नई दिल्ली

 

दोपहर 15.00 बजे वाराणसी

शाम 16.35 बजे इलाहाबाद

शाम 18.30 बजे कानपुर

रात 23.00 बजे नई दिल्ली

 

 

- ट्रेन नंबर 22436 नई दिल्ली- वाराणसी

 

सुबह 06.00 बजे नई दिल्ली

सुबह 10.20 बजे कानपुर

दोपहर 12.23 बजे इलाहाबाद

दोपहर 14.00 बजे वाराणसी

 

वंदे भारत ट्रेन के स्वागत के लिए कैंट स्टेशन एडमिनिस्ट्रेशन तैयार है। पहले दिन यह स्पेशल ट्रेन के तौर पर बनारस पहुंचेगी.

आनंद मोहन, डायरेक्टर

कैंट स्टेशन

inextlive from Varanasi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.