घर ही नहीं फ्लैट वालों के लिए भी वास्तु अहम नहीं किए बदलाव तो हो सकती है शारिरिक मानसिक तकलीफ

2019-05-27T11:03:56+05:30

कई बार सुरक्षा के ख्याल से उत्तर पूर्व की गैलरी बंद कर देते हैं फ्लैट्स में पर ऐसा नहीं होना चाहिए फ्लैट्स में जहां चाहें वहां स्टोर बना दिया ऐसा न हो। इसका विशेष ध्यान देना चाहिए

career@inext.co.in
KANPUR: भी अहम है वहां का वास्तु नमस्कार मित्रों... आज बहुत से लोगों के मन में यह प्रश्न उठता रहता है कि घरोंके वास्तु के बारे में तो सुना है पर क्या फ्लैट्स में ये कारागार है... क्या फ्लैट्स में भी वास्तु के नियम लागू होते हैं? क्या फ्लैट में रहने वाले लोग भी घरों की तरह वास्तु के कारण जीवन में लाभ हानि का अनुभव करते हैं? मित्रों हां... फ्लैट्स में भी वास्तु की अच्छाइयां या दोष दिखते हैं। हर उस जगह पर वास्तु वाइब्स का रोल है , जहां जहां इंसान वहां रहकर कोई काम कर रहा है। वहां पर रहने वालों को इसके फायदे या दोष, उनके वास्तु के अनुसार जीवन में देखने को मिलते हैं।


फ्लैट में रहने वालों के जीवन में इसलिए होते हैं कष्ट

आज अपार्टमेंट वर्तमान समय की मांग हैं। फ्लैट में रहने वाले लोगों को भी विवशता के साथ रहना पड़ता है यदि वहां की वास्तु वाइब्स सही नहीं है तो फ्लैट्स में कई बार लोग चाहे या अनचाहे मन से कुछ चीजें जान कर भी वास्तु के विपरीत बदलाव करते हैं और फिर उनको जीवन में कष्टों का सामना करना पड़ता है । फ्लैट में चारों ओर की खुली जगह में बनाई हुई पानी की टंकी, सेप्टिक टैंक, पार्किंग, चार दिवारी मुख्य द्वार आदि वास्तु के नियमों के अनुसार ही होनी चाहिए ।यदि ऐसा नहीं है तो जीवन में बहुत विषमताओं का सामना करना पड़ता है जो उनके जीवन में शारीरिक या मानसिक तकलीफ भी ला सकते हैं।
वास्तु टिप्स: उत्तर या पूर्व दिशा में होनी चाहिए घर की बालकनी, जानें किस जगह पर क्या रखें
वास्तु टिप्स: शांत और सकारात्मक होना चाहिए बेड रुम का वातावरण, इसके लिए करें ये काम
इन वजहों से होता है वास्तु दोष
कई बार सुरक्षा के ख्याल से उत्तर पूर्व की गैलरी बंद कर देते हैं फ्लैट्स में...पर ऐसा नहीं होना चाहिए फ्लैट्स में जहां चाहें वहां स्टोर बना दिया... ऐसा न हो। इसका विशेष ध्यान देना चाहिए। वास्तु के नियम तो सभी के लिए सामान है यदि वास्तु वाइब्स का ध्यान रख कर हम किसी फ्लैट या घर का निर्माण कराते हैं तो जीवन में आने वाली समस्याओं से हम काफी हद तक बच सकते हैं।
-प्रेम पंजवानी



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.