वास्तु की मदद से कैसे दूर कर सकते हैं अपनी चिंता और तनाव एक्सपर्ट से जानें

2019-04-15T11:28:49+05:30

यदि हम पूर्व और दक्षिणपूर्व दिशा क्षेत्र की तरफ शयन करेंगे तो हमारी चिंता का बढ़ना स्वाभाविक है। यदि यहां किसी तरह का ध्यान योग और साधना भी करेंगे तो उसका परिणाम भी हमें चिंता और तनाव के रूप में देखने को मिलेगा।

चिंता, अवसाद और तनाव की शुरुआत हमारे घर, कार्यालय या जहां हम अपना समय व्यतीत करते हैं, वहीं से होती है। यदि हम रहने की बात करें तो जहां हम रहते हैं, फिर वह चाहे फ्लैट हो या बंगला, अपना हो या किराए का, वहां के वास्तु वाइब्स हमारे परिवार के जीवन में सकारात्मक या नकारात्मक प्रभाव देते हैं। इसलिए जैसे ही किसी नए घर में जाएं, तो देखें कि वहां की वाइब्स सही है या नहीं।

यदि हम पूर्व और दक्षिण-पूर्व दिशा क्षेत्र की तरफ शयन करेंगे तो हमारी चिंता का बढ़ना स्वाभाविक है। यदि यहां किसी तरह का ध्यान, योग और साधना भी करेंगे तो उसका परिणाम भी हमें चिंता और तनाव के रूप में देखने को मिलेगा। जीवन में शांति के बजाय अशांति का सामना भी करना पड़ सकता है।

हम एक ही बात को कई बार सोचेंगे और अनावश्यक चर्चा करेंगे, जिसका कोई हल नहीं निकलता और इसका सीधा असर आपके व्यवसाय और रोजाना के कार्यों पर पड़ता है। हमें पश्चिम से उत्तर-पश्चिम दिशा क्षेत्र के मध्य भी शयन कक्ष बनाने से दूर रहना होगा। यह भी घर के लोगों को मानसिक तनाव देने लगता है। धीरे-धीरे व्यक्ति अपने मन की बात भी नहीं कह पाता और अंदर ही अंदर तकलीफ सहता है। पर यह सब बातें इतनी जल्दी महसूस नहीं होतीं।

घर में उत्तर-पूर्व दिशा क्षेत्र पूरी तरह साफ हो तो बेहतर है। घर में रोज सुबह भक्ति संगीत बजाएं। घर में समय-समय पर पूजा पाठ हो तो और भी अच्छा है। यहां योग और ध्यान साधना करना भी अच्छे परिणाम देता है।

आपके सवाल

मैंने अपने घर का मैप आपको भेजा है। हम पिछले एक साल से अपने घर को दोबारा से बनवा रहे हैं। हमें पिछले वर्ष से ही स्वास्थ्य संबंधी तकलीफें आ रही हैं। परिवार का हर व्यक्ति बीमार है। आर्थिक समस्या पहले कभी नहीं रही, पर अब इससे भी हम सब जूझ रहे हैं। हमारा चलता हुआ बिजनेस बंद हो गया। क्या हमारे घर में कोई वास्तु दोष है? नमिता कौर

बहुत सी बातों को घर बनवाते समय नजरअंदाज किया गया है, जिससे घर का वास्तु असंतुलित हो गया है। ये घर के लोगों को स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतें देगा और किसी का साथ भी नहीं मिलने देगा। व्यवसाय शुरू करेंगी तो उसमें लाभ नहीं मिलेगा। रिश्ते बिगड़ेंगे। घर में मांगलिक कार्य में विलंब होगा। अपना शयन कक्ष बदलें और बच्चों को आगे की तरफ वाला कमरा प्रथम तल पर दें। पूजा घर उत्तर-पूर्व की तरफ ले जाएं और एक भगवान की एक ही फोटो रखें।

PREM PANJWAANI, Tarot card & Vastu expert

वास्तु टिप्स: जानिए आईने का क्या है आपकी किस्मत से कनेक्शन, लव लाइफ भी होती है प्रभावित

वास्तु टिप्स: करियर की सफलता में उत्तर दिशा की है अहम भूमिका, करें ये आसान उपाय

अपने सवाल भेजें

8808505652 पर व्हॉट्स एप के थ्रू आप अपने सवाल हमें भेज सकते हैं। नाम और सिटी नेम के साथ ही यह भी बताएं कि आप अपने सवाल का जवाब एस्ट्रो, टैरो, वास्तु या फेंगशुई में से किससे चाहते हैं।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.