पर्थ टेस्ट में इंग्लिश में लड़ रहे थे कोहली और पेन पढ़ें हिंदी में क्या है उसका मतलब

2018-12-17T01:57:31+05:30

भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच पर्थ टेस्ट के चौथे दिन दोनों टीमों के कप्तान आपस में भिड़ गए। विराट कोहली और टिम पेन के बीच कुछ तूतू मैंमैं हुई। जिसके बाद अंपायरों को बीचबचाव करना पड़ा।

कानपुर। भारत बनाम ऑस्ट्रेलिया के बीच चार मैचों की टेस्ट सीरीज का दूसरा टूस्ट पर्थ में खेला जा रहा। इस टेस्ट के चौथे दिन मैदान पर विराट कोहली और टिम पेन के बीच बहस होने लगी। यह सब हुआ ऑस्ट्रेलियाई पारी के 71वें ओवर में। टिम पेन ने मिडविकेट की तरफ शाॅट मारा और रन लेने के लिए दौड़ पड़े। तभी बीच में विराट कोहली गेंद पकड़ने के चक्कर में पेन से टकरा गए। बस फिर क्या दोनों के बीच जुबानी जंग शुरु हो गई। बाद में अंपायर क्रिस जेफनी को बीच-बचाव करना पड़ा। आइए जाने किसने-किसे क्या कह डाला।
कोहली : मैंने तुम्हें एक शब्द भी नहीं बोला, तो तुम मुझसे क्यों चिढ़े हुए हो।
पेन : मैं ठीक हूं, कल तुम हारे हुए लग रहे थे तो आज इतने कूल कैसे नजर आ रहे।
अंपायर : बस बहुत हुआ।
पेन : हमें बातचीत की अनुमति है।
अंपायर : नहीं नहीं, चलो खेलो, आप दोनों टीम के कप्तान हैं।
पेन : हम तो सिर्फ बात कर रहे थे। हमारे बीच कोई गाली-गलौच नहीं हुई।
अंपायर : टिम तुम कप्तान हो।
पेन : दिमाग ठंडा रखो, विराट।
दोनों टीमों के बीच कई बार हुआ विवाद
कोहली और पेन के बीच उस समय तो सब शांत हो गया। मगर इसके आठ ओवर बाद टिम पेन जब आउट होकर जा रहे थे तो कोहली ने उनसे कुछ बोला, जिसके बाद पेन मुड़कर फिर कोहली के पास आए। खैर भारत-ऑस्ट्रेलिया मैच में इस तरह की नोंकझोंक मामूली है। इन दोनों टीमों का पिछला इतिहास उठाकर देखें तो दोनों टीमों के खिलाड़ी कई बार अपनी हदें पार कर चुके हैं। हरभजन और साइमंड्स के बीच मंकीगेट कौन भूल सकता है।
भारत को जीत के लिए 287 रन का लक्ष्य
पर्थ टेस्ट में भारत को अगर जीतना है तो उसे 287 रन बनाने होंगे। ऑस्ट्रेलिया की टीम चौथे दिन दूसरी पारी में 243 रन पर सिमट गई। ऐसे में पहली पारी के आधार पर मेजबान टीम के पास कुल 287 रन की बढ़त हो गई। भारत के पास बस एक दिन का समय बचा है। विराट चाहेंगे की पहली पारी की तरह इसमें भी शतक लगाकर टीम को जीत दिलाएं। हालांकि खबर लिखे जाने तक भारत के दो विकेट गिर गए। ओपनर केएल राहुल जहां बिना खाता खोले पवेलियन लौटे। वहीं चेतेश्वर पुजारा भी चार रन बनाकर आउट हो गए।

सबसे तेज 25 टेस्ट शतक लगाने वाले दूसरे खिलाड़ी बने कोहली, 70 सालों से यह खिलाड़ी है नंबर वन
जब जेलर बन गया इंटरनेशनल क्रिकेटर, खेल डाले इतने मैच


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.