पार्षद धरने नगर आयुक्त छुट्टी पर सड़कें दे रहीं गंभीर चोट

2019-06-10T06:00:37+05:30

यह भी जानें

-6 जून को हुई हल्की बारिश से कई मोहल्लों में हुआ जलभराव

-1 हफ्ते से नगर आयुक्त हैं छुट्टी पर

-10 दिन से पार्षद नगर निगम में कर रहे हैं धरना प्रदर्शन

-कई रोड बनाए जाने के लिए पास, फिर भी नहीं हो पा रहा काम

-नगर निगम में पार्षद, मेयर और नगर आयुक्त के विवाद में पब्लिक हो रही परेशान

बरेली: शहर में पार्षद कई दिनों से लगातार धरना प्रदर्शन कर रहे हैं, जिसकी वजह से नगर आयुक्त छुट्टी पर चले गए हैं। दोनों के विवाद की वजह से शहर में कई विकास कार्य लटके हुए हैं। जहां एक ओर शहर में जगह-जगह पड़े कूड़े की सड़ांध से सांस लेना दूभर हो गया है। वहीं दूसरी तरफ 6 जून को हुई हल्की बारिश में ही कई मोहल्ले जलमग्न हो गए। हालात इतने बदतर हो गए हैं कि पब्लिक को मोहल्लों में भरे गंदे पानी से होकर गुजरना पड़ रहा है। यहां तक कि लोग उसमें गिरकर चोटिल हो रहे हैं। लेकिन जिम्मेदार पब्लिक की प्रॉब्लम को दरकिनार कर अपनी मांगों को लेकर धरने पर डटे हुए हैं।

कोई सुनने वाला नहीं

पार्षदों और नगर आयुक्त के विवाद का खामियाजा पब्लिक भुगत रही है। परेशान होकर वे अपनी शिकायत लेकर नगर निगम तो जा रहे, लेकिन उनको वहां सुनने वाला कोई नहीं मिल रहा। इससे मायूस होकर वापस लौट रहे हैं।

वीर सावरकर नगर: घर से ऑफिस के लिए निकले, पहुंचे हॉस्पिटल

डेलीपीर स्थित वीर सावरकर नगर निवासी ओपी भारती यूपी परिवहन विभाग में स्टेशन मैनेजर हैं। उन्होंने बताया कि 6 जून को हुई हल्की बारिश से पूरी रोड पर जलभराव हो गया। सुबह वह ऑफिस जाने के लिए निकले तो पानी में उनकी बाइक स्लिप हो गई। जिससे उनके पैर में फ्रैक्चर हो गया। वहीं, मोहल्ले के अन्य लोग भी आए दिन पानी में गिरकर चोटिल हो रहे हैं। परेशान मोहल्ले वाले नगर निगम में अपनी समस्या को लेकर पहुंचे तो पता चला कि नगर निगम में पार्षद खुद ही नगर आयुक्त के खिलाफ धरना दे रहे है। वे मायूस होकर लौट आए।

अग्रसेन नगर: घरों में हो गए कैद

बीसलपुर रोड स्थित अग्रसेन नगर में भी सड़कें पानी से भरी हुई हैं। लोगों को कहना है कि बहुत जरूरी होता है, तभी घर से बाहर निकलते हैं। पानी से इतनी बदबू आती है कि घर के बाहर भी नहीं खड़े हो सकते हैं। स्थानीय लोगो ने नगर निगम से कई बार शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई।

माधोबाड़ी: अभी से यह हाल तो बारिश में क्या होगा

अब्दुल रज्जाक ग‌र्ल्स स्कूल के पास कूड़े की वजह से नालियां चोक हो गई हैं। बारिश हुई तो हालात और बिगड़ गए। मोहल्ले वालों का कहना है कि प्री मानसून आने में चंद दिन ही बचे हैं, लेकिन अभी तक मोहल्ले की नालियां तक साफ नहीं की गई है। थोड़ी सी बारिश में ही यह हाल है तो बारिश के दिनों में क्या होगा। चोक नालियों की वजह से हमेशा ही सड़क पर गंदा पानी भरा रहता है। जिससे लोग अपने बच्चों को घर से बाहर निकालने से डर रहे हैं

==============

मच्छरों से फैल रही बीमारियां

हल्की बारिश से हुए जलभराव से मोहल्ले और कॉलोनियों में मच्छरों की संख्या बढ़ गई है। वीर सावरकर नगर, अग्रसेन नगर और माधोबाड़ी के निवासियों का कहना है कि एक तरफ जहां गंदा पानी रोड पर भरा होने से दुर्गध आती है तो रात को मच्छरों ने बुरा हाल कर रखा है। मच्छरों की संख्या इतनी बढ़ गई है कि बीमारी फैलने का खतरा बना हुआ है।

-अभी तो प्री मानसून ने भी दस्तक नही दी है। हल्की बारिश से ही रोड पर जलभराव हो गया है। इससे लगता है कि बारिश के मौसम में तो घर से निकलना भी दूभर हो जाएगा।

-लालता प्रसाद

-----------

कॉलोनी में बारिश से जलभराव अधिक होने के चलते स्कूल वाहन भी बच्चों को लेने के लिए नहीं आते हैं। बच्चों को खुद ही जलभराव से निकालकर स्कूल वाहन तक पहुंचाना होता है।

सुभाष शर्मा

----------

-एरिया शहर विधायक का है। रोड बनवाने के लिए शहर विधायक से भी मिले तो उन्होंने रोड के लिए टेंडर भी पास भी करा दिया, लेकिन इसके बाद भी रोड नहीं बनी।

सतीश चन्द्र

----------

-रोड से निकलने वाले बाइक सवार अक्सर गिरकर घायल हो रहे हैं। अभी हल्की बारिश हुई तो जलभराव हो गया है। इसमें भी कई बाइक सवार गिरकर घायल हो चुके हैं।

संजय

-------------

-एरिया नगर निगम में तो आता है, लेकिन नगर निगम में कोई सुनने वाला नहीं है। कॉलोनी की आने वाली मेन रोड आधी तो बना दी गई है लेकिन आधी रोड बीच में ही छोड़ दी है।

रामपाल

-----------

-रोड से निकलने वालों की बाइक्स अक्सर पानी में ही गिर जाती है। जिससे वह गिरकर घायल हो जाते हैं। अब तो नगर निगम में कोई जिम्मेदार भी नहीं मिल रहा है तो शिकायत किससे की जाए।

हरीश कुमार

------------

inextlive from Bareilly News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.