दक्षिण अफ्रीका में हो रहा 10वां ब्रिक्स सम्मेलन जानें दुनिया के लिया क्यों है खास

2018-07-25T07:01:00+05:30

2018 का ब्रिक्स सम्मेलन 25 जुलाई से शुरू हो रहा है। इस बार इसकी मेजबानी दक्षिण अफ्रीका कर रहा है।

कानपुर। 2018 का  ब्रिक्स सम्मलेन 25 जुलाई से शुरू हो रहा है। इस बार इसकी मेजबानी दक्षिण अफ्रीका कर रहा है। इस सम्मेलन में ब्राजील, रूस, भारत चीन और साउथ अफ्रीका के शीर्ष नेता हिस्सा लेंगे। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ब्रिक्स सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए युगांडा से साउथ अफ्रीका के रवाना हो चुके हैं। इस सम्मेलन का आयोजन साउथ अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में किया गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ब्रिक्स की इस 10वीं बैठक में दुनिया के कई मुद्दों पर अहम चर्चा की जाएगी।
क्या है ब्रिक्स
इंग्लिश लेटर बी.आर.आई.सी.एस. से बना शब्द 'ब्रिक्स' दुनिया की पांच उभरती हुई अर्थव्यवस्थाओं का एक समूह है। इस समूह में दुनिया के पांच देश ब्राजील, रुस, भारत, चीन और दक्षिण अफ़्रीका शामिल हैं। बता दें कि जुलाई 2006 में जी-8 आउटरीच शिखर सम्मेलन के मौके पर रूस, भारत, चीन के शीर्ष नेताओं ने एक बैठक कर इस समूह को तैयार करने की प्रक्रिया शुरू की थी। दक्षिण अफ़्रीका के इस समूह में जुड़ने से पहले इसे 'ब्रिक' ही कहा जाता था। दक्षिण अफ़्रीका ब्रिक्स समूह से 2011 में जुड़ा था।
सदस्य देशों की सहायता के लिए स्थापना
ब्रिक्स की स्थापना सदस्य देशों की सहायता करने के लिए की गई थी। ब्रिक्स समूह से जुड़े सभी देश समय समय एक दूसरे के विकास के लिए वित्तीय, तकनीक और व्यापार के क्षेत्र में मदद करते हैं। इतना ही नहीं ब्रिक्स समूह के पास 'न्यू डेवलपमेंट बैंक' नाम का खुद का एक बैंक भी है, जो सदस्यों देशों सहित अन्य मुल्कों को भी कर्ज देता है। बता दें कि ब्रिक्स देश आर्थिक मुद्दों पर एक साथ मिलकर काम करना चाहते हैं लेकिन ऐसा संभव नहीं हो पाता है क्योंकि कुछ देशों के बीच राजनीतिक मामलों पर भारी विवाद हैं। उनमें भारत और चीन के बीच सीमा विवाद सबसे अहम है। इतना ही नहीं भारत को चीन और पाकिस्तान के संबंधों पर भी आपत्ति है।
पहली बार हुई थी बैठक
ब्रिक देशों की पहली आधिकारिक बैठक 16 जून, 2009 को रूस के येकाटेरींबर्ग में हुई थी। उस दौरान ब्राजील, रुस, भारत और चीन ने मिलकर आर्थिक समेत कई विभिन्न मुद्दों पर चर्चाएं की थी। कुछ मुद्दों पर सदस्य देशों के बीच सहमती भी बनी थी। नौवां ब्रिक्स सम्मेलन सितम्बर, 2017 में चीन के ज़ियामेन में आयोजित की गई थी। उस वक्त भी सदस्य देशों के विकास से जुड़े विभिन्न मसलों पर बात की गई। अब ब्रिक्स की 10वीं बैठक साउथ अफ्रीका के जोहानिसबर्ग में आयोजत की गई है। इस सम्मेलन में उम्मीद है कि प्रधानमंत्री मोदी डोकलाम विवाद पर चर्चा कर सकते हैं।

भारत दक्षिण अफ्रीका संबंधो पर सुषमा स्वराज की राष्ट्रपति सिरील रामाफोसा संग अहम बातचीत

BRICS के टॉप 20 में 4 भारतीय श‍िक्षण संस्‍थान, जो इस साल हैं इंड‍िया के टॉप 5 में


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.