स्वयंसेवक शपथग्रहण समारोह में आजसू ने दिखाई ताकत

2014-09-22T07:00:25+05:30

RANCHI : झारखंड में आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए आजसू पार्टी ने रांची के प्रभात तारा मैदान में कार्यकर्ताओं के शपथ ग्रहण के बहाने विधानसभा चुनाव की तैयारी का आगाज किया। कार्यकर्ताओं के सैलाब को देखते हुए इसे आजसू का शक्ति प्रदर्शन कहा जा रहा है। समारोह का संबोधित करते हुए आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने अपने भाषण से न केवल कार्यकर्ताओं में जोश भरा बल्कि आने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर अपनी पार्टी की रणनीति भी स्पष्ट कर दी। सुदेश महतो के भाषण से ऐसा लगा जैसे पार्टी बीजेपी के साथ तालमेल बैठाने का प्रयास कर सकती है। हालांकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि आजसू पार्टी आम जनता के साथ गठबंधन करने की तैयारी कर रही है।

शहीदों को श्रद्धांजलि

आजसू के इस स्वयं सेवक शपथ ग्रहण समारोह में झारखंड के ख्ब् जिलों से आजसू कार्यकर्ता उपस्थित हुए थे। कार्यक्रम शुरू होने से पहले पहले सुदेश महतो समेत पार्टी के सभी विधायक और केंद्रीय नेताओं ने शहीदों की बेदी पर पुष्प अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। इसके बाद शपथ ग्रहण समारोह राष्ट्रगान के साथ शुरू हुआ। पार्टी सुप्रीमो सुदेश महतो ने झारखंड की अस्मिता की रक्षा के लिए आजसू कार्यकर्ताओं को सामूहिक रूप से शपथ दिलाई। इस मौके पर नंदलाल नायक के नेतृत्व में स्थानीय कलाकारों ने शहीदों की कुर्बानी को नाट्य रूप से मंचित करके कार्यकर्ताओं में जोश भरने का काम किया.

नहीं पूरा हुआ सपना

शपथ ग्रहण समारोह के बाद सबसे पहले आजसू के केंद्रीय प्रवक्ता डॉ। देवशरण भगत ने समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड राज्य को अलग हुए क्ब् साल हो गए, लेकिन अलग राज्य का जो सपना आम जनता ने देखा था वो अबतक पूरा नहीं हुआ है। क्ब् सालों में इस प्रदेश में जो कुछ हुआ है उसे बदलने का आजसू पार्टी ने बीड़ा उठाया है। आजसू कार्यकर्ता आजसू के विजन को जन- जन तक पहुंचाएंगे। हटिया विधायक नवीन जायसवाल ने कहा कि आनेवाले समय में आजसू प्रदेश की किस्मत बदलेगी। राज्य का विकास होगा।

अधूरे हैं सपने: सुदेश

आजसू सुप्रीमो सुदेश महतो ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड को समृद्ध और सशक्त बनाना आजसू का लक्ष्य है। झारखंड राज्य जिस उद्देश्य के साथ बिहार से अलग हुआ वो उद्देश्य आजतक पूरा नहीं हो पाया है। जनता के सपने अधूरे हैं। अलग झारखंड राज्य की मांग के लिए झारखंड के जिन शहीदों ने अपनी कुर्बानी दी थी उसकी कुर्बानी आजतक पूरी नहीं हो पाई है। आजसू के इस शपथ ग्रहण समारोह में सभी स्वयंसेवक सफेद टोपी पहनकर आए थे। समारोह स्थल पर चारों तरफ झारखंड आंदोलन में शहीद हुए शहीदों के पोस्टर लगाए गए थे। कार्यकर्ताओं ने इस समारोह में एक बोतल रक्त दान करने, एक व्यक्ति को साक्षर करने और अपने क्षेत्र में एक वृक्ष लगाने का संकल्प लिया.

inextlive from Ranchi News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.