कनपटी पर गोली मारकर कत्ल

2016-04-30T07:40:42+05:30

मांडा में दशमियहवां के जंगल में मिली युवक की लाश, नहीं हो सकी पहचान

- पहनावे से नौकरीपेशा व प्रोफेशनल लग रहा

- सफेद लाइनदार शर्ट व ब्लैक पैंट में था युवक

ALLAHABAD:

मांडा के दशमियहवां पहाड़ के जंगल में शुक्रवार सुबह 40 साल के युवक की लाश मिलने से सनसनी फैल गई। कनपटी पर गोली मारकर कत्ल करने के बाद लाश को जंगल की बाउंड्री में फेंक दिया गया था। युवक ने सफेद कलर की लाइनदार शर्ट, ब्लैक कलर की पैंट, ब्लैक लेदर का जूता पहन रखा था। उसके हाथ में घड़ी, जेब में पांच रुपए व कंघी तो मिली लेकिन कोई ऐसा पेपर नहीं मिला जिससे कि पहचान हो सके। पहनावे से युवक नौकरीपेशा, प्रोफेशनल या बड़ा कारोबारी लग रहा था। आशंका है कि युवक को अगवा करके मांडा के पहाड़ तक लाया गया और रात में गोली मारकर कत्ल कर दिया गया।

सड़क पर पड़ा था खून

सुबह दशमियहवां पहाड़ की ओर टहलने गए लोगों ने मांडा-लालगंज रोड पर खून फैला देखा तो रुक गए। पास ही वन विभाग द्वारा बनाई गई जंगल की बाउंड्री तक खून के निशान मिले। उत्सुकता में लोग बाउंड्री तक पहुंचे और दूसरी तरफ देखा तो होश उड़ गए। एक अधेड़ की खून से लथपथ लाश पड़ी थी। पब्लिक ने ही पुलिस को खबर दी। एसपी यमुनापार अवधेश राय, एसओ मांडा चंद्रभान सिंह व एसआई केपी मिश्रा स्पॉट पर पहुंचे। कातिलों ने ऐसी कोई चीज नहीं छोड़ी थी जिससे उसकी पहचान हो सके। आखिर में पुलिस ने अज्ञात में पंचनामा भरकर शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। सड़क के पास ही पुलिस को एक खोखा भी मिला है। सूचना देने वाले मांडा के परवेज खान की तहरीर पर एफआईआर दर्ज की गई है।

फोर व्हीलर से लाए थे अधेड़ को

युवक ने शेविंग कर रखी थी और उसके सिर पर बाल नहीं थे। आशंका है कि उसको किसी फोर व्हीलर से लाया गया और सड़क किनारे खड़ाकर गोली मार दी गई। गोली मारने के बाद शव को घसीटकर जंगल की बाउंड्री तक लाया गया और फिर उठाकर फेंक दिया गया। फोरेंसिक एक्सप‌र्ट्स का कहना है कि कत्ल में दो या इससे अधिक लोग शामिल थे।

आसपास के जिलों को भेजी फोटो

मांडा पुलिस ने शव की फोटो लेने के बाद उसे वाट्सएप पर दूसरे जिलों की पुलिस को भेज दिया। यह भी पूछा गया है कि क्या 24 घंटे के दौरान कोई मिसिंग की रिपोर्ट तो नहीं दर्ज की गई। कनेक्शन एमपी से भी जुड़े हो सकते हैं।

किलिंग प्वाइंट बना पहाड़

मांडा का दशमियाहवां पहाड़ काफी बदनाम रहा है। पहले भी यहां मर्डर कर लाश फेंकी जाती रही है। पिछले महीने ही भारतगंज की एक युवती की लाश कुएं में मिली थी। पांच साल पहले हंडिया के गोंसाई दास का पूरा गांव में बरात में आए एक युवक की हत्या कर लाश इसी जंगल में फेंकी गई थी। सुनसान होने की वजह से यह इलाका अपराधियों की पसंदीदा जगह बन गया है।

inextlive from Allahabad News Desk


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.